Saturday, 21 September 2019, 9:39 PM

ऊंची उड़ान

हम है कारीगर बुलंद हौसलों के

Updated on 22 January, 2015, 12:08
कमर पर दुपट्टा कसा हुआ... बोझा नहीं सिर पर... सेफ्टी हेलमेट पहना हुआ। हाथ सने हैं सीमेंट और गारे के मसाले से... आशियाना है बनता हुआ। किसी से कोई मतलब नहीं। मगन हैं वे अपने काम में। अब रेजा नहीं राजमिस्त्री हैं ये। रेजा यानी मजदूर कहलाने के क्रम को... आगे पढ़े

जी हां जीतेंगे

Updated on 22 January, 2015, 12:03
खुदी को कर बुलंद इतना कि हर तकदीर से पहले, खुदा बंदे से खुद पूछे... ये पंक्तियां आत्म सम्मान के उस जज्बे को बयां करती है, जिसके बगैर आप जिंदगी में कामयाब नहीं हो सकतीं। मनोवैज्ञानिकोंं के अनुसार आत्म सम्मान के बगैर आप अपनी प्रतिभा, योग्यता, कार्यक्षमता और गुणों का... आगे पढ़े

खेल के क्षेत्र में इन महिलाओं ने मारी बाजी

Updated on 22 January, 2015, 11:55
इस वर्ष महिलाओं ने हर क्षेत्र में सफलता हासिल की। यह वर्ष उनकी उपलब्धियों की दास्तान में कई महत्वपूर्ण पड़ाव जोड़ गया... खेलों की महारथी -स्क्वॉश खिलाड़ी दीपिका पल्लीकल को 'पद्मश्री' से सम्मानित किया गया। इंडियन स्क्वॉश चैलेंजर का खिताब भी अपने नाम किया। -पर्वतारोहण के लिए ममता सोढ़ा को 'पद्मश्री' से सम्मानित... आगे पढ़े

काबिल बनाएं लड़कियों को

Updated on 22 January, 2015, 11:48
कला की अनेक विधाओं से जुड़ी डॉ. कुसुम अंसल को कई पुरस्कारों से नवाजा गया है। सत्तर की उम्र में भी वह पूरे जोश और उमंग से साहित्य साधना में लगी हैं। पत्र-पत्रिकाओं में लिखने के साथ ही वह सीनियर सिटीजन्स के लिए भी काम करती हैं। उनके नाम पर... आगे पढ़े

मरीज की मुस्कान ही मेरा रिवॉर्ड है: डॉ. सावित्री श्रीवास्तव

Updated on 4 December, 2014, 16:16
कभी डॉक्टर बनने का सपना देखा था एक दुबली-पतली बच्ची ने। इस राह में कई मुश्किलें आई, मगर हर बाधा व भेदभाव से जूझ कर मेहनत एवं समर्पण के साथ उसने अपनी पहचान बनाई। आज उम्र के सत्तरवें पडाव पर भी डॉ. सावित्री श्रीवास्तव मुस्तैदी से अपने काम में जुटी... आगे पढ़े

मुश्किलों के आगे जिद्दी सी ख्वाहिश: मैरी कॉम

Updated on 18 October, 2014, 22:31
हाल-फिलहाल ऐसी कोई हिंदी फिल्म नहीं आई, जिसे उसकी रिलीज सेपहले ही अनेक राज्यों ने मनोरंजन कर से मुक्त कर दिया हो। पहले महाराष्ट्र और फिर अन्य राज्यों ने यह उदारता दिखाई। मणिपुर की विश्व चैंपियन बॉक्सर मैरी कॉम की जिंदगी पर बनी मैरी कॉम एक प्रेरक फिल्म है। यह... आगे पढ़े

कामयाबी की कीमत

Updated on 10 October, 2014, 16:37
अगर हम अपनी जिंदगी की बैलेंस शीट का जायजा लें तो समझ आता है कि क्या पाने के लिए हमने क्या खोया है। फिर भी हमारी ख्वाहिशें कम नहीं होतीं। हमें सब कुछ सबसे अच्छा, ज्यादा और पहले चाहिए। क्या करें, हमारा मन भी मासूम बच्चे की तरह थोडा जिद्दी,... आगे पढ़े

जानिए गुरु की सबसे बड़ी सीख..

Updated on 5 September, 2014, 14:00
गुरु यानी टीचर हमें साधारण से असाधारण बनाते हैं। समझ व ज्ञान को तराशते हैं। प्रेरणा और मार्गदर्शन देकर नई राह पर चलना सिखाते हैं। जानें, गुरु की सबसे बड़ी सीख.. एक लक्ष्य किसी भी फील्ड में आगे बढ़ने के लिए एक लक्ष्य का होना जरूरी है। लक्ष्य है, तभी हम... आगे पढ़े

महिलाओं के लिए मिसाल बनीं वामिनी

Updated on 17 August, 2014, 9:35
एक सामान्य धारणा है कि महिलाएं अच्छे से कार नहीं चला सकतीं। बाइक चलाना उनके बस की बात नहीं है। ऐसे में महिलाओं की ड्राइविंग स्किल पर कई चुटकुले भी बने हैं। लोग महिलाओं की ड्राइविंग कौशल का मजाक उड़ाते हैं व उन्हें खराब ड्राइवर माना जाता है। इस अवधारणा... आगे पढ़े

मनोबल रहे ऊंचा

Updated on 13 August, 2014, 12:44
मैं हर साल प्रथम श्रेणी में पास हुआ। कक्षा दस की बोर्ड परीक्षा के लिए तो मैंने ठान लिया था कि मैं अपनी मेहनत और लगन से कॉलेज में टॉप करूंगा। जब मेरा रिजल्ट इंटरनेट पर घोषित हुआ, तो मैं यह देखकर बेहद खुश हुआ कि मैंने 90 परसेंट अंक... आगे पढ़े

दरअसल